आसाराम कैदी की ड्रेस पहनेगा, जेल में होगा कैदी नंबर 130

  • April 26, 2018
Share:

जोधपुर कोर्ट ने  स्वंयभू ‘भगवान’ आसाराम को एक नाबालिग लड़की से रेप का दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुना दी है. रेप का दोषी साबित होने और सजा सुनाए जाने के बाद अब आसाराम जोधपुर कोर्ट में सजायाफ्ता मुजरिम के तौर पर रहेगा. जेल सूत्रों के मुताबिक, आसाराम अब तक जेल में संत की हैसियत से ही रह रहा था, लेकिन अब उसकी हैसियत एक सजायाफ्ता मुजरिम जैसी ही होगी.

जोधपुर सेंट्रल जेल के अंदर ही तैयार किए गए कोर्ट में आसाराम ने अपने खिलाफ फैसला सुना. फैसला सुनने के बाद वह फूट-फूटकर रोने लगा. थोड़ी देर के लिए आसाराम को वहीं छोड़ दिया गया. फिर वह उठा और अपने बैरक में चला गया. जेल के DIG विक्रम सिंह ने बताया कि फिलहाल आसाराम को बैरक नंबर 2 में ही रखा जाएगा. बाद में सुरक्षा के नियमों के तहत किस बैरक में शिफ्ट करना है उस पर विचार किया जाएगा.

आसाराम के लिए जोधपुर सेंट्रल जेल ही अब तक आश्रम बना हुआ था. अब तक आसाराम जेल का खाना नहीं खाता था. आसाराम के समर्थक उसके लिए आश्रम से खाना लाते थे. भक्तों द्वारा लाई गई टॉफियों और ड्राइफ्रूट को आसाराम प्रसाद के तौर पर जेल में बांटता था. लेकिन अब से उसे जेल का ही खाना खाना पड़ेगा.

जेल के डीआईजी ने बताया कि कैदियों को सफेद कपड़ा दिया जाता है. आसाराम भी सफेद वस्त्र ही पहनता है, लेकिन अब तक उसके कपड़े बाहर से आते थे. लेकिन जेल नियमों के अनुसार अब उसे कैदियों के लिए तय वर्दी पहननी पड़ेगी. डीआईजी विक्रम सिंह ने बताया कि कल सुबह टेलर आसाराम का नाप लेगा, फिर उसकी वर्दी तैयार की जाएगी.

जेल को आश्रम बनाकर अब तक आसाराम मस्ती करता था. जेल सूत्रों के अनुसार, वह अक्सर अजीबोगरीब हरकतें करता रहता था. कभी अचानक भजन गाने लगता है तो कभी तालियां बजाता. उसकी हरकतों से जेल प्रशासन भी परेशान था. लेकिन अब जेल प्रशासन को राहत मिल सकती है, क्योंकि अब उसकी हैसियत संत की नहीं बल्कि एक सजायाफ्ता मुजरिम जैसी हो जाएगी.

Tags


Comments

Leave A comment