बूथ प्रबंधन से कर्नाटक फतह की तैयारी में बीजेपी, जानिए पूरा प्लान

  • April 27, 2018
Share:

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा ने बूथ प्रबंधन के जरिये मैदान मारने की रणनीति बनाई है। पार्टी ने प्रत्येक विधानसभा सीटों को चार हिस्सों में बांट कर इसके अलग-अलग प्रभारी नियुक्त किए हैं। ये प्रभारी रोजाना बूथ कार्यकर्ताओं से रिपोर्ट हासिल कर रहे हैं। पार्टी की कोशिश अपने मतदाताओं को हर हाल में मतदान केंद्रों तक पहुंचाना है।

चुनावी रणनीति से जुड़े एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि राज्य की सभी सीटों का आकलन कर अलग-अलग सीटों को 2 से 4 हिस्सों में बांटा गया है। प्रभारी प्रतिदिन पन्ना प्रमुख के संपर्क में है। पिछले सप्ताह करीब 600 नेताओं को सीट के अलग-अलग हिस्सों की जिम्मेदारी दी गई है। चूंकि कई सीटों पर बहुत कम अंतर से हार-जीत होगी इसलिए ऐसी सीटों पर जिस दल के कार्यकर्ता ज्यादा सक्रिय रहेंगे वह फायदे की स्थिति में रहेंगे।

पीएम मोदी की रैलियों से बदलेंगी परिस्थितियां

पार्टी के रणनीतिकारों का मानना है कि 1 मई से पीएम की ताबड़तोड़ रैलियों के बाद स्थिति में ज्यादा बदलाव होगा। पीएम अपनी रैलियों में केंद्र के काम गिनाएंगे, वहीं राज्य में पांच साल में कथित तौर पर 3500 किसानों की आत्महत्या का भी मामला उठाएंगे। इसके अलावा कांग्रेस के हिंदू आतंकवाद की थ्योरी को अदालत द्वारा ठुकराने की चर्चा से भी सियासत गरमाने के आसार हैं।

लिंगायत बहुल इलाकों पर खासा जोर

संघ के करीब 30 वरिष्ठ प्रचारक एक पखवाड़े से लिंगायत बहुल इलाकों में कैंप कर रहे हैं। इनकी कोशिश लिंगायत समुदाय को अलग धर्म का दर्जा संबंधी कांग्रेस के सियासी दांव को विफल करना है। संघ के प्रचारक इसे हिंदुओं को बांटने की राजनीति के तौर पर प्रचारित करने के अलावा यह भी सवाल कर रहे हैं कि यदि कांग्रेस को इस समुदाय की इतनी चिंता है तो उसने इसी समुदाय का मुख्यमंत्री बनाने की घोषणा क्यों नहीं की?

Tags


Comments

Leave A comment