त्रिपुरा में हिंसा के दौरान कई लेफ्ट नेताओं के घर फूंके, कई इलाकों में धारा 144 लागू

  • March 6, 2018
Share:

त्रिपुरा के विधानसभा चुनाव के बाद से सूबे के कई इलाकों में हिंसा की खबरें आ रही हैं। खासकर राजधानी अगरतला के पास बांग्लादेश की सीमा से लगे इलाकों में ज्यादा हिंसा हो रही है। 13 इलाकों में हिंसा की घटनाएं सामने आ रही है हालांकि प्रशासन ने हालात पर काबू पाने के लिए धारा 144 लागू कर दी है मगर हिंसा की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं।

वामपंथी नेता आरोप लगा रहे हैं कि चुनाव जीतने के बाद बीजेपी समर्थक हिंसा पर उतर आए हैं। आरोप है कि बीजेपी समर्थकों ने लेफ्ट के दफ्तर ही नहीं जलाएं हैं बल्कि लेफ्ट के नेताओं के घरों को भी फूंक दिया है। पश्चिमी और दक्षिणी त्रिपुरा से हिंसा की घटनाएं सामने आ रही हैं।

बेलोनियो सबडिविजन में तो आरोपियों ने रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति को बुलडोजर से ढहा दिया। सूत्र बताते हैं कि मूर्ति को गिराते वक्त भारत माता की जय के नारे भी लगाए गए। दूसरी तरफ पुलिस का आरोप है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने बुल़़डोजर के ड्राइवर को शराब पिलाकर इस घटना को अंजाम दिया। फिलहाल आरोपी ड्राइवर को गिरफ्तार किया गया है तो साथ  ही बुलडोजर को भी सीज कर दिया गया है।

एक ओर लेफ्ट नेता बीजेपी पर हिंसा भड़काने का आरोप लगा रहे हैं तो वहीं बीजेपी ने इससे साफ इंकार किया है। बीजेपी का कहना है कि लेफ्ट के पास कोई मुद्दा ही नहीं है इसलिए बेबुनियाद आरोप लगाए जा रहे हैं। बीजेपी नेताओं का कहना है कि जहां भी सीपीएम के दफ्तरों को तोड़ा गया है उनमें सीपीएम का ही हाथ है।

Tags


Comments

Leave A comment