बोधगया में निशाने पर थे दलाई लामा, एनआईए ने शुरू की जांच, बम प्लांट करने के पीछे इंडियन मुजाहिद्दीन

  • January 21, 2018
Share:

भगवान बुद्ध की नगरी बोधगया को शनिवार को दहलाने की साजिश को नाकाम कर दिया गया . बोधगया मंदिर के पास से दो जिंदा बम बरामद किए गए थे. रात भर चले तलाशी अभियान के बाद दो शक्तिशाली बमों को बरामद किया गया जिसके बाद इन दोनों बमों को फल्गु नदी के पास ले जाकर डिफ्यूज किया गया है.

इस पूरे मामले की जांच करने के लिए एनआईए की 2 सदस्यीय टीम बोधगया पहुंची है. एनआईए ने मामले में प्रारंभिक जांच शुरू की. वहीं इस मामले पर मगध जोन के आईजी नैयर हसनैन खान से जब पूछा गया कि क्या दलाई लामा आतंकियों के निशाने पर थे तो नैयर हसनैन ने कहा कि इस बात की संभावना से इनकार नहीं किया और कहा कि हर पहलू से इस पूरे मामले की जांच की जा रही है.

2 जिंदा बम बरामद

दो जिंदा बम मिलने से हरकत में आई सुरक्षा एजेंसियों ने भारी संख्या में फोर्स तैनात कर दी है. बोधगया में बम ऐसे वक्त में मिला है जब तिब्बती धर्मगुरू दलाई लामा भी बोधगया में ही मौजूद है. बताया जा रहा है कि शुक्रवार रात 9 बजे के आसपास एक छोटा धमाका हुआ, जिसके बाद जब देखा गया तो सबके होश उड़ गए. मौके से दो जिंदा बम बरामद किए हए. ये बम महाबोधि मंदिर के गेट नंबर चार से बरामद हुए.

तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा भी बोधगया में ही मौजूद हैं. दलाई लामा दो जनवरी से महाबोधि मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना में भी हिस्सा ले रहे हैं. ऐसे में यहां उनकी मौजूदगी के वक्त बम मिलना काफी चिंताजनक माना जा रहा है.

Tags


Comments

Leave A comment