भारत के साथ अब नाथू ला दर्रा खोलने पर बात करना चाहता है चीन, कहा- रास्ता खोलने के लिए संवाद जरूरी

sikkim (750 x 425)
  • September 12, 2017
Share:

डोकलाम विवाद के खत्म  होने के बाद चीन ने कहा है कि वह भारत के साथ कैलाश मानसरोवर की यात्रा के लिए नाथू ला दर्रा खोलने के लिए संवाद करना चाहता है. चीन ने कहा है कि नाथू ला के रास्ते को खोलने के लिए भारत और चीन के बीच बातचीत होनी चाहिए.

आप को बता दें कि कुछ दिन पहले चीन ने सिक्किम रूट को डोकलाम विवाद के चलते बंद कर दिया था. जिसके चलते कैलाश मानसरोवर यात्रा को भी रोक दिया गया था. ये रूट कैलाश मानसरोवर जाने के लिए उत्तराखंड के लिपुलेख से होकर गए रास्ते की तुलना में ज्यादा सुविधाजनक है.

इस रास्ते को खोलने के लिए चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा है कि चीन ने भारत से आने वाले तीर्थयात्रियों को सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने की कोशिश की है. चीन ने कहा है कि रास्ता डोकलाम में भारत की घुसपैठ के बाद बंद था. इससे पहले चीन ने कहा था कि भारी बारिश और सड़क बह जाने की वजह से रास्ते को बंद किया गया था. शुआंग ने कहा कि चीन भारत के साथ इस रास्ते को खोलने और तीर्थयात्रियों से जुड़े अन्य मुद्दों पर बातचीत के लिए तैयार है.

हालाकि चीन ने भारत के साथ ब्रह्मपुत्र नदी के हाइड्रोलॉजिकल डाटा को साझा नहीं करने की बात कही है. चीन ने कहा है कि यह वह समय है जब तिब्बत में डाटा कलेक्शन स्टेशन को अपग्रेड किया जा रहा है.

 

 

Tags


Comments

Leave A comment