MAX अस्पताल ने की कार्रवाई, जीवित बच्चे को मरा हुआ बताने वाले डॉक्टरों की गई नौकरी

baby (750 x 425)
  • December 4, 2017
Share:

दिल्ली के शालीमार बाग के मैक्स अस्पताल ने उन डॉक्टरों को नौकरी से निकाल दिया है जिन्होंने जिंदा बच्चे को मरा हुआ बता दिया था. अस्पताल पर लगातार बढ़ रहे दबाव के बाद अस्पताल प्रशासन ने ये कदम उठाया है. शालीमार बाग के मैक्स अस्पताल ने डॉक्टर ए पी मेहता और विशाल गुप्ता को लापरवाही दिखाने के आरोप में मैक्स हॉस्पिटल से निकाल दिया है.

क्या है मामला?

दरअसल शालीमार बाग के मैक्स अस्पताल ने जुड़वा बच्चों को मृत घोषित कर दिया था. इसके बाद अस्पताल ने बच्चों को प्लास्टिक के बैग में उसके परिजनों को सौंप दिया था. लेकिन वक्त रहते परिजनों की सावधानी ने एक बच्चे की जान बचा ली. जिन जुड़वा बच्चों को अस्पताल ने मृत घोषित कर दिया था उनमें से एक बच्चा जिंदा था. इसके बाद परिजनों ने बच्चे को इलाज के लिए दूसरे अस्पताल में भर्ती करवाया है.

इस मामले के सामने आने के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है वहीं केंद्रीय स्वास्थय मंत्री जेपी नड्डा ने मैक्स अस्पताल की इस लापरवाही को गंभीरता से लिया है. इस मामले में जेपी नड्ड़ा ने तुरंत ही स्वास्थय सचिव से बात की है.

Tags


Comments

Leave A comment