मजेंटा लाइन की शुरुआत जल्द, सड़क से कम हों जाएंगे एक लाख लोग

  • May 3, 2018
Share:

अब नोएडा से सीधे एयरपोर्ट तक का सफर 2 घंटे की बजाए केवल 50 मिनट में पूरा होगा. यात्रियों को नोएडा से सीधे दक्षिणी दिल्ली की कनेक्टिविटी मिलेगी, ये सफर सिर्फ 19 मिनट में पूरा होगा. यही नहीं दक्षिणी दिल्ली से पश्चिमी दिल्ली की सीधी कनेक्टिविटी भी होगी, और इस तरह सड़क से 1 लाख लोग कम होंगे.

1 महीने के अंदर ही दिल्ली मेट्रो के तीसरे फेज की सबसे लंबी मेट्रो लाइन शुरू कर दी जाएगी, इस लाइन की शुरुआत नोएडा के बोटैनिकल गॉर्डन से होगी और इस लाइन का आखिरी स्टेशन जनकपुरी वेस्ट होगा. नोएडा से मजेंटा लाइन शुरू होकर दक्षिणी दिल्ली होते हुए एयरपोर्ट और कैंट होते हुए पश्चिमी दिल्ली के जनकपुरी तक पहुंचेगी.

करीब 38 किलोमीटर लंबी मजेंटा लाइन के 12.64 किलोमीटर हिस्से पर बोटेनिकल गार्डन से कालकाजी मंदिर के बीच मेट्रो पहले से ही चल रही है, जबकि बाकी 25.36 किलोमीटर हिस्से पर शुरुआत इसी महीने होगी.

जनकपुरी पश्चिम से कालकाजी मंदिर तक इस रूट पर कुल 16 मेट्रो स्टेशन हैं. इनमें से दो स्टेशन हौज खास और जनकपुरी वेस्ट इंटरचेंज स्टेशन हैं.

ये होंगे मैजेंटा लाइन मेट्रों के स्टेशन

कालकाजी मंदिर, नेहरु एंक्लेव, ग्रेटर कैलाश, चिराग दिल्ली, पंचशील पार्क, हौज खास, आईआईटी दिल्ली, आर के पुरम, मुनिरका, वसंत विहार, शंकर विहार, टर्मिनल 1डी एयरपोर्ट, सदर बाजार कैंट, पालम, दशरथ पुरी, डाबरी मोड़, जनकपुरी पश्चिम.

अगर अभी आप नोएडा से सड़क मार्ग द्वारा एयरपोर्ट की ओर जाएंगे तो आपको जबरदस्त ट्रैफिक जाम से जूझना पड़ता है. शाम ढलते ही धौला कुआं रिंग रोड बेहद व्यस्त हो जाता है. इसी तरह दक्षिणी दिल्ली, और जनकपुरी जैसे बेहद व्यस्ततम रूट पर लोगों को राहत मिलेगी.

इस लाइन की खासियत नोएडा से डायरेक्ट एयरपोर्ट की कनेक्टिविटी होगी. अब आप घंटों खर्च करने की बजाए सीधे नोएडा से एयरपोर्ट का सफर कर पाएंगे, वह भी महज 45 से 50 मिनट में.

स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर में ट्रैफिक विभाग के प्रोफेसर डॉक्टर सेवाराम ने कहा कि इस लाइन के बनने से मेट्रो की दूसरी लाइनों के बीच कनेक्टिविटी बनी है, और अब साउथ दिल्ली से वेस्ट दिल्ली जाने के लिए आपको सेंट्रल दिल्ली जाने की जरूरत नहीं होगी.

ट्रैफिक एक्सपर्ट्स के मुताबिक रिंग रोड के आस पास ट्रैफिक सबसे ज्यादा होता है, ऐसे में मैजेंटा लाइन के गुजरने से रिंग रोड के ट्रैफिक में एक लेन के बराबर ट्रैफिक की कमी होगी. उनके मुताबिक तकरीबन 1 लाख लोग सड़क से कम हो जाएंगे.

 

Tags


Comments

Leave A comment