2019 में रोजगार होगा सबसे बड़ा मुद्दा- पी.चिदंबरम

  • May 1, 2018
Share:

कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी और नरेंद्र मोदी सरकार की ‘नौकरियां पैदा करने में अक्षमता’ होगी। चिदंबरम ने भारतीय युवा कांग्रेस की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक को संबोधित किया और कहा कि मोदी सरकार को पता नहीं था कि नौकरियां कैसे सृजित की जाए।

चिदंबरम ने कहा कि यूं तो चुनाव में कई मुद्दे होंगे लेकिन 2019 चुनाव का सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी का होगा। सरकार इतनी अक्षम है कि वह नहीं जानती कि नौकरियां कैसे सृजित की जाए। उन्होंने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में रिक्तियां थीं और हजारों नौकरियां सृजित की जा सकती थीं।

चिदंबरम ने उदाहरण देते हुए कहा कि एक लाख सरकारी स्कूलों में सिर्फ एक शिक्षक थे। अगर इन शिक्षकों के स्कूलों में कम से कम पांच शिक्षकों की भर्ती की जाती है, तो लाखों नौकरियों का सृजन होता। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों में डॉक्टरों, क्लर्क, चपरासियों और सफाई कर्मचारियों की रिक्तियां थीं. पूर्व मंत्री ने कहा कि केंद्रीय विश्वविद्यालयों में लगभग 6,000 शिक्षण पद रिक्त थे, जबकि उच्च न्यायपालिका में न्यायाधीशों के 410 पद रिक्त थे.

बता दें कि कांग्रेस ने 2019 चुनावों के लिए अभी से ही बिगुल फूंक दिया है। कांग्रेस लगातार मोदी सरकार पर हमलावर है। हाल ही में नई दिल्ली में हुई कांग्रेस की जन आक्रोश रैली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत पार्टी के कई नेताओं ने बेरोजगार, दलित उत्पीड़न, किसानों की स्थिति से जुड़े कई मुद्दों पर केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया था।

Tags


Comments

Leave A comment