जेपी बिल्डर्स बंगाल की खाड़ी में डूब जाए, हमें लेना देना नहीं, जमा कराए 2000 करोड़, हमें खरीदारों की फिक्र- सुप्रीम कोर्ट

supreme court (750 x 425)
  • September 11, 2017
Share:

सुप्रीम कोर्ट ने आज जेपी इंफ्राटेक ग्रुप के खिलाफ सख्त रूख अपनाया है. खुद को दिवालिया करार दिए जाने की कोशिश में जुटे जेपी ग्रुप को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि जेपी ग्रुप बंगाल की खाड़ी में डूबती है तो डूब जाए, हमें इसकी कोई चिंता नहीं है. कोर्ट ने कहा कि पहले जेपी ग्रुप 2000 करोड़ रुपये जमा करे. कोर्ट ने इसके लिए कंपनी को 27 अक्टूबर तक का वक्त दिया है.

सुप्रीम कोर्ट ने कंपनी के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए कहा है कि पैसे जमा किए जाएं, क्योंकि हमें खऱीददारों की फिक्र है. सुप्रीम कोर्ट ने कंपनी के एमडी सहित सभी निदेशकों के विदेश जाने पर रोक लगा दी है. कोर्ट ने कहा है कि अगर किसी को विदेश जाने की जरूरत होती है तो इसके लिए पहले कोर्ट से इजाजत ले.

सुप्रीम कोर्ट ने बैंकों को जेपी के फ्लैट्स खरीदने के लिए होम लोन लेने वालों के साथ नरमी बरतने के निर्देश दिए हैं.

 

Tags


Comments

Leave A comment