कर्नाटक में किंग बन सकती है जेडीएस, बीजेपी को बाहर करने के लिए कांग्रेस ने खेला बड़ा दांव

  • May 15, 2018
Share:

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला। हालांकि भाजपा 104 सीटों के साथ सबसे बड़े दल के रूप में उभरी लेकिन वह बहुमत के लिए जरूरी 113 सीटों के जादुई आंकड़े को पार नहीं कर पाई। दूसरी तरफ, कांग्रेस को 78 सीटों पर संतोष करना पड़ा, जबकि जदएस अपने पुराने प्रदर्शन को दोहराने में कामयाब रही। उधर, नतीजे आने के बाद मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने इस्तीफा दे दिया है।

किसी दल के पास बहुमत का आंकड़ा नहीं होने के कारण गेंद अब राज्यपाल वज्जू भाई बाला के पाले में है। भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा ने केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार के साथ राज्यपाल से भेंट की और सरकार बनाने का दावा पेश किया और उनसे विधानसभा में बहुमत साबित करने का मौका देने का आग्रह किया। येदियुरप्पा ने कहा कि कांग्रेस पिछले दरवाजे से सत्ता हासिल करना चाहती है, जबकि जनादेश कांग्रेस मुक्त कर्नाटक का है।

दूसरी तरफ, तेजी से बदलते घटनाक्रम में कांग्रेस ने गोवा और मणिपुर की गलतियों से सबक लेते हुए जदएस को समर्थन देने की घोषणा कर दी। उसके बाद जदएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने राज्यपाल से भेंटकर सरकार बनाने का दावा पेश किया। उन्होंने अपने समर्थन में कांग्रेस द्वारा भेजा गया पत्र भी पेश किया।

वैसे स्थापित परंपरा के मुताबिक त्रिशंकु विधानसभा की सूरत में राज्यपाल सबसे बड़े दल या चुनाव पूर्व गठबंधन को सरकार बनाने का न्यौता देते हैं और सदन में बहुमत साबित करने का मौका देते हैं। चूंकि कांग्रेस और जदएस का चुनाव पूर्व गठबंधन नहीं था, लिहाजा यह राज्यपाल पर है कि वे किसे सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करते हैं। भाजपा के तीन केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, प्रकाश जावडेकर और जेपी नड्डा पार्टी के पक्ष में समर्थन जुटाने के लिए जमे हुए हैं।

Tags


Comments

Leave A comment