पटरी पर लौट रहा है कासगंज, इटरनेट सेवा बहाल, डीजीपी ने कहा- हिंसा की तो लगेगा रासुका

  • January 30, 2018
Share:

यूपी के कासगंज में 26 जनवरी पर तिरंगा यात्रा के दौरान दो पक्षों में हुई हिंसा के बाद स्थिति धीरे दीऱे सामान्य होने लगी है. दुकानें खुलने लगी है और सड़कों पर लोगों ने निकलना शुरू कर दिया है. हालाकि अभी भी कासगंज में सुरक्षा के कड़े इंतजाम है. रात को फिर से आगजनी की गई. माल गोदाम रोड पर रात दस बजे एक खोखे को फूंक दिया गया, इसको लेकर 5 लोगों को हिरासत में लिया गया है. इस बीच कासगंज में एक बार फिर इटरनेट सेवा बहाल कर दी गई है.

कासगंज में हुई हिंसा को लेकर यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने सख्त चेतावनी देते हुए कहा है कि जो भी कानून को अपने हाथ में लेगा उसपर सख्त कार्रवाई की जाएगी. डीजीपी ने कहा है कि महौल बिगाड़ने वालों पर रासुका लगाया जाएगा.

अबतक 112 लोगों की गिरफ्तार

हिंसा को देखते हुए कासगंज में कई जिलों की पुलिस बुलाई गई है. पुलिस ने हिंसा के आरोप में अबतक 112 लोगों की गिरफ्तार हुई है. इनमें 31 आरोपी हैं जबकि 81 को एहतियातन गिरफ्तार किया गया है. हिंसा के आरोपियों पर रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी. इस बीच कासगंज के एसपी सुनील सिंह का तबादला कर दिया गया है. आज रात से कासगंज में इटरनेट सेवा बहाल हो जाएगी.

मृतक के परिजनों को 20 लाख का मुआवजा

सीएम ने रविवार को प्रमुख सचिव और डीजीपी के साथ बैठक की थी. जिसमें सीएम ने पूरी जानकारी ली है. इस बैठक के बाद सरकार ने मृतक चंदन के परिवार को 20 लाख रूपये मुआवजा देने का फैसला किया है.

प्रशासन ने की पिस मीटिंग

इस बीच कासगंज में फैली हिंसा को लेकर रविवार को प्रशासन ने एक समुदाय के साथ पीस मीटिंग की है. डीएम आरपी सिंह ने मीटिंग में सभी समुदायों से शांति बनाए रखने की अपील की है. डीएम ने शांति की अपील करते हुए कहा है कि कोई भी किसी भी तरह की हिंसा में शामिल न हो. डीएम आरपी सिंह ने कहा है कि जिस ने भी हिंसा फैलाई है और जो उपद्रवी हंगामा कर रहे है उनपर सख्त एक्शन लिया जाएगा.

आरोपी के घर से मिला क्रूड बम

कासगंज में उपद्रवियों पर पैनी नजर रखने के लिए प्रशासन ड्रोन की मदद ले रहा है. इसके अलावा पुलिस ने आरोपियों की घरपकड़ के लिए तलाशी अभियान भी चलाया है. तलाशी अभियान के दौरान एक आरोपी के घर से पिस्टल और क्रूड बम बरामद किया गया है.

 

Tags


Comments

Leave A comment