कासगंज हिंसा को लेकर योगी के मंत्री का विवादित बयान, कहा- कासगंज हिंसा जैसी छोटी-मोटी घटनाएं होती रहती हैं

  • February 4, 2018
Share:

यूपी के कासगंज में 26 जनवरी पर तिरंगा यात्रा के दौरान हुई हिंसा के बाद मामला अब शांत हो गया है. लेकिन राजनेताओं की जुबान शांत होने का नाम नहीं ले रही है. कासगंज हिंसा को लेकर योगी सरकार में मंत्री सत्यदेव पचौरी ने विवादित बयान दिया है.

मंत्री सत्यदेव पचौरी ने कासगंज हिंसा को लेकर कहा है कि यह हिंसा छोटी-मोटी घटना थी और ऐसी घटना होती रहती हैं. पचौरी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि छोटी-मोटी घटनाएं अक्सर होती रहती हैं… और हर जगह होती हैं. इस पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत नहीं है.

आप को बता दें कि यूपी के कासगंज में 26 जनवरी पर तिरंगा यात्रा के दौरान दो पक्षों में हिंसा हुई थी, जिसमें चंदन नाम के शख्स की मौत हो गई थी. इसके बाद कासगंज कई दिनों तक बंद रहा था, हालाकि अब मामला शांत हो गया है. वहीं मृतक चंदन के परिवार ने कहा है कि उन्हें धमकी दी जा रही है ऐसे में उन्हें सुरक्षा दी जानी चाहिए.

मुख्य आरोपी गिरफ्तार

इस मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपियों में से एक सलीम खान को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी की गिरफ्तारी के साथ ही पुलिस ने चंदन की हत्या में इस्तेमाल किए गए हथियार को भी बरामद कर लिया है. इस बीच यूपी सरकार ने कासगंज हिंसा को लेकर गृह मंत्रालय को रिपोर्ट सौंप दी है.

यूपी सरकार ने गृह मंत्रालय को भेजी रिपोर्ट में अभी तक की गई गिरफ्तारियों की पूरी जानकारी दी है. योगी सरकार ने रिपोर्ट में ये भी बताया है कि किस कारण चंदन गुप्ता की मौत हुई. आप को बता दें कि हिंसा को लेकर गृह मंत्रालय ने योगी सरकार से रिपोर्ट मांगी थी.

मुख्य आरोपी गिरफ्तार

कासगंज हिंसा को लेकर पुलिस ने मुख्य आरोपियों में से एक सलीम खान को गिरफ्तार कर लिया है. सलीम उसी घर में रहता है जहां से चंदन को गोली मारी गई थी. मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी की पुष्टि एडीजी ने भी कर दी है. एडीजी ने कहा है कि संभव है कि इसी की पिस्टल से गोली मारी गई थी. पहले खबर आई थी कि मुख्य आरोपी कोर्ट में सरेंडर कर सकते है. लेकिन सरेंडर करने से पहले ही पुलिस ने मुख्य आरोपी को धर दबोचा है. हालाकि पुलिस को इस मामले में अभी भी 11 आरोपियों की तलाश है.

Tags


Comments

Leave A comment