महाराष्ट्र में फैली जातीय हिंसा के पीछे बीजेपी और आरएसएस का हाथ- मायावती

  • January 3, 2018
Share:

पुणे में भीमा-कोरेगांव की 200वीं सालगिरह के मौके पर हुए कार्यक्रम में भड़की हिंसा में एक शख्स की मौत हो गई है जबकि कई लोग घायल हुए है. धीरे धीरे ये जातीय हिंसा मंगलवार को पूरे महाराष्ट्र में फैल गई है. इस जातीय हिंसा को लेकर आज पूरे महाराष्ट्र में बंद का ऐलान किया गया है.

महाराष्ट्री में हुई जातीय हिंसा को लेकर बीएसपी प्रमुख मायावती ने आरएसएस और बीजेपी पर हमला बोला है. मायावती ने कहा है इस जातीय हिंसा के लिए आरएसएस और बीजेपी जिम्मेदार है, ये नहीं चाहते कि दलित ऊपर उठें. मायावती ने कहा है कि इनकी सोच हमेशा दलितों को नीचे दबाने की रही है. मायावती ने कहा है कि इस हिंसा को रोका जा सकता था लेकिन जिस तरह से कार्रवाई की गई उससे बीजेपी की सरकार पर सवाल खड़े हो रहे है. मायावती ने कहा कि जब सरकार को पता था कि इतनी बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा होंगे तो सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जाने चाहिए थे लेकिन सरकार ने ऐसा नहीं किया.

आज महाराष्ट्र बंद

इस हिंसा को लेकर डॉक्टर भीमराव आंबेडकर के पोते प्रकाश आंबेडकर समेत कई संगठनों ने आज महाराष्ट्र बंद का ऐलान किया है. प्रकाश आंबेडकर ने कहा कि सरकार ने न्यायिक जांच के जो आदेश दिए गए हैं वो उन्हें मंजूर नहीं हैं.
वहीं हिंसा को देखते हुए औरंगाबाद में धारा-144 लागू कर दी गई है. बंद को लेकर पूरे महाराष्ट्र में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए है.

मंगलवार को भड़की हिंसा

जानकारी के मुताबिक इस कार्यक्रम में कुछ बाहरी लोगों ने वधु गांव के लोगों भड़काया और देखते ही देखते हिंसा फैल गई. हालाकि प्रशासन ने पूरी तैयारी होने का दावा किया था उसके बाद भी यहां हिंसा हो गई. बताया जा रहा है कि टकराव दलितों और मराठा संगठन के लोगों के बीच हुआ है. इस दौरान महाराष्ट्र के हड़पसर और फुरसुंगी में बसों पर पथराव किया गया. इसके अलावा ट्रेन सर्विस भी प्रभावित हुई है.

Tags


Comments

Leave A comment