मलेशिया में जाकिर नाइक की बढ़ी मुश्किल, मलेशिया के मंत्री ने कहा- हमारे देश में अतिवादियों के लिए कोई जगह नहीं

  • January 10, 2018
Share:

विवादास्पद इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक की मलेशिया में मुश्किल बढ़ सकती है. मलेशिया के पीएमओ में मंत्री एसके देवामनी ने कहा है कि हमारे देश में अतिवादयों के लिए कोई जगह नहीं है. एसके देवामनी ने कहा है कि मलेशिया में किसी भी ऐसे शख्त को जगह नहीं मिलेगी जो हमें ये बताए कि हमें अपने धर्म का किस तरह पालन करना चाहिए. एसके देवामनी ने कहा कि हम जाकिर नाइक की नागरिकता पर स्पष्टता पाने की कोशिश कर रहे हैं, हम नहीं चाहते कि कोई व्यक्ति हमारे देश की इमेज पर सवाल उठाए.

इंटरपोल से भारत को झटका

इससे पहले जाकिर को लेकर इंटरपोल ने भारत को बड़ा झटका दिया था. इटरपोल ने भारतीय एजेंसियों की तरफ नाईक के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के आग्रह को खारिज कर दिया था. इसको लेकर इंटरपोल ने जाकिर नाईक के वकील को एक चिट्ठी भेजी थी. जिसमें कहा गया है कि भारतीय एजेंसियों ने जाकिर के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने का आग्रह किया था, लेकिन सबूतों के अभाव में इस आग्रह को खारिज किया जा रहा है.

इसके बाद इस निर्णय के बारे में इंटरपोल जनरल सेकेट्रिएट भेज दिया गया, जहां से नवंबर 2017 में इंटरपोल की फाइलों से नाईक से जुड़ी जानकारी को हटा दिया गया. आप को बता दें कि जाकिर नाईक मलेशिया में है और भारत उसके प्रत्यर्पिण के लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी कराना चाहता था.

भारतीय एजेंसियां जाकिर नाईक को भारत लाकर पूछताछ करना चाहती है. इस मामले में एनआईए ने जाकिर के खिलाफ आतंक के मामलों में आरोपपत्र दायर किया हुआ है.

Tags


Comments

Leave A comment