पुणे जातीय हिंसा की आरएसएस ने की निंदा, कहा- हर हाल में दोषियों पर होनी चाहिए कार्रवाई

  • January 3, 2018
Share:

पुणे में भीमा-कोरेगांव की 200वीं सालगिरह के मौके पर हुए कार्यक्रम में भड़की हिंसा में एक शख्स की मौत हो गई है जबकि कई लोग घायल हुए है. धीरे धीरे ये जातीय हिंसा पूरे महाराष्ट्र में फैल गई है. वहीं महाराष्ट्र में फैली इस जातीय हिंसा की आरएसएस ने कड़े शब्दों में निंदा की है. आरएसएस ने कहा है कि इस हिंसा को फैलाने में जिन लोगों का हाथ है उनपर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होना चाहिए.

RSS ने ट्विट करते हुए एक तस्वीर भी पोस्ट की और लिखा कि कुछ ताकतें नफरत फैलाने का काम कर रही हैं. RSS के मनमोहन वैद्य ने जनता से अपील की है कि वो राज्य में शांति और सौहार्द बनाए रखें.

हिंसा के पीछे बाहरी लोगों का हाथ

जानकारी के मुताबिक इस कार्यक्रम में कुछ बाहरी लोगों ने वधु गांव के लोगों भड़काया और देखते ही देखते हिंसा फैल गई. हालाकि प्रशासन ने पूरी तैयारी होने का दावा किया था उसके बाद भी यहां हिंसा हो गई. बताया जा रहा है कि टकराव दलितों और मराठा संगठन के लोगों के बीच हुआ है. इस दौरान महाराष्ट्र के हड़पसर और फुरसुंगी में बसों पर पथराव किया गया. इसके अलावा ट्रेन सर्विस भी प्रभावित हुई है.

Tags


Comments

Leave A comment