टेरर फंडिंग: NIA ने कोर्ट में कहा- PAK से पैसा लेते हैं अलगाववादी, आतंकियों से हैं संबंध

  • January 31, 2018
Share:

राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने टेरर फंडिंग मामले को लेकर 10 आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है. एनआईए के अपनी चार्जशीट में कहा है कि गिरफ्तार किए गए अलगाववादी नेताओं के संबंध आतंकी संगठनों से है और ये सभी लोग जम्मू कश्मीर में हिंसा फैलाने के लिए पाकिस्तान से पैसा लेते है. एनआईए ने कहा है कि इन सभी आरोपियों के खिलाफ पुख्ता सबूत है.

पटियाला हाउस कोर्ट के विशेष न्यायाधीश तरुण सेहरावत की अदालत में एनआईए ने कहा है कि यह आरोपी हुर्रियत के तीन धड़ों के सदस्य, पदाधिकारी और समर्थक हैं. ये सभी लोग देश विरोधी गतिविधियों में शामिल है.

चार्जशीट में हाफिज और सलाउद्दीन का भी नाम

एनआईए ने अपनी चार्जशीट में लश्कर-ए-तैयबा के प्रमुख हाफिज सईद और हिजबुल चीफ सैयद सलाउद्दीन का नाम भी शामिल किया है. एनआईए ने जम्मू कश्मीर में टेरर फंडिंग को लेकर हुई गिरफ्तारियों के 6 महीने बाद चार्जशीट दाखिल की है.

टेरर फंडिंग के आरोप में पिछले साल 10 लोगों की गिरफ्तारी हुई थी, इनमें सात कश्मीरी अलगाववादी नेता, एक कारोबारी और दो पत्थरबाज शामिल हैं. इससे पहले टेरर फंडिंग केस को लेकर गृहमंत्रालय ने NIA  को इन सभी आरोपियों पर अभियोग चलाने की मंजूरी दे दी थी.

एनआईए की चार्जशीट में नईम खान और फारूक अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे का नाम भी शामिल है. इस चार्जशीट में बाकी आठ आरोपियों में आफताब हिलाली, अल्ताफ अहमद, अयाज अकबर भी शामिल हैं. इनके अलावा अलगाववादी नेता पीर सैफुल्ला और राजा मेराजुद्दीन कलवल के नाम भी चार्जशीट में हैं.

इन सभी पर पाकिस्तान से पैसा लेकर जम्मू कश्मीर में हिंसा भड़काने का आरोप है. पिछले साल एनआईए ने इन सभी की गिरफ्तारी की थी. जिसके बाद पूछताछ में कई बड़े खुलासे हुए थे.

Tags


Comments

Leave A comment