नाकामी के बिना कामयाबी नहीं मिलती, भारत को देखने का नजरिया अब बदल चुका है- पीएम मोदी

modi (750 x 425)
  • September 11, 2017
Share:

पीएम मोदी ने आज स्वामी विवेकानंद के शिकागो भाषण के 125 वर्ष पूरा होने के मौके पर युवाओं को संबोधित किया. पीएम के इस भाषण को सभी स्कूल और कॉलेजों में लाइव दिखाया गया. इस मौके पर पीएम ने कहा कि विश्व में हिंदुस्तान को देखने का नजरिया अब बदल चुका है. पीएम मोदी ने कहा कि इस युवा शक्ति को नौकरी मांगने वाला नहीं, नौकरी देने वाला बनना है.

पीएम मोदी लाइव-

-पीएम के संबोधन के बाद लगे भारत माता की जय के नारे.

-जो कल से सीख लेकर आगे बढ़ता है वो युवा है.

-जो बीते हुए कल के बारे में सोचना रहता है वो युवा नहीं.

-हम कूप मंडूक नहीं बन सकते.

-हमें अपने भीतर की बुराईयों के खिलाफ लड़ना होगा.

-ये ताकत राजनीतिक शक्ति से नहीं, जन शक्ति से है.

-भारत को देखने का नजरिया विश्व में बदल गया है.

-हर राज्य, हर भाषा पर गर्व होना चाहिए.

-क्रिएटिविटि के बिना जिंदगी नहीं.

-इंसान रोबोट नहीं बन सकता, अंदर का इंसान हमेशा जिंदा रहना चाहिए.

-दूसरे राज्यों की संस्कृति का डे मनाए.

-हमें कॉलेज में केरल डे, हरियाणा डे, अलग अलग डे मनाने चाहिए.

-मैं कॉलेज में रोज डे मनाने के खिलाफ नहीं हूं.

-सवा सौ करोड़ लोग एक कदम आगे बढ़े तो देश अपने आप आगे बढ़ जाएगा.

-छात्र राजनीति की दिशा चिंता का विषय.

-छात्र संघ चुनाव में किसी ने नहीं कहा कि हम साफ सफाई रखेंगे.

-हम लोग नदियों को मां मानते है.

-हम लोग पौधे में भी परमात्मा देखते है.

-फॉलो द रूल एंड इंडिया विल रूल

-21वीं सदी एशिया की सदी.

-विवेकानंद ने वन एशिया का सपना देशा था.

-आपको सफलता भी कई बार फेल होने के बाद मिलती है.

-फेल होने का डर मन से निकालना होगा.

-देश का नौजवान जॉब मांगने वाला नहीं, जॉब देने वाला बनना चाहिए.

-विवेकानंद ने स्किल डेवलपमेंट पर ध्यान दिया, सरकार भी इसी रास्ते पर चल रही है.

-विवेकानंद ने मेक इन इंडिया पर जोर दिया था.

-सफाई रखने वाले देश की सच्ची संतान.

-विवेकानंद ने विचार को विचारधारा में बदला

-भीख मांगने वाला भी तत्व ज्ञान से भरा है.

-क्या खाना, क्या नहीं खाना, ये हमारी परंपरा नहीं.

-मुझे देश की बेटियों पर गर्व, बेटियों ने कहा शौचालय नहीं तो शादी नहीं करेंगी.

-मेेरे शौचालय फिर देवालय वाले बयान पर विवाद हो गया.

-वंदे मातरम सुनकर रोंगटे खड़े हो जाते है.

-विवेकानंद ने गंगा को गंदा करने से रोका था.

-सभी सफाई कर्मियों को मेरा सच्चा सलाम.

-इस देश पर सबसे पहला अधिकार उन लोगों का है जो सफाई का काम करते है.

-हम वो लोग है जो कूड़ा फेंककर वंदे मातरम बोलते हैं, हमें बदलना होगा.

-हम वो लोग है जो पान खाकर पिचकारी मारते है और फिर वंदे मातरम बोलते हैं. हमें बदलना होगा.

-हमारे देश के लिए विवेकानंद जी सबसे बड़ी प्रेरणा.

-भारत आज दुनिया का सबसे युवा देश है.

-जो लोग महिलाओं को सम्मान की नजर से देखते हैं उन्हें मेरा सौ बार प्रणाम.

-स्वामी विवेकानंद ने जन सेवा का रास्ता दिखाया.

-देश की महिलाओं को सम्मान देना जरूरी.

-विवेकानंद ने समाज की बुराई के खिलाफ आवाज उठाई.

-विवेकानंद ने पश्चिम को भारत की आध्यात्मिकता से परिचित कराया.

-गुलामी के दौर में भी विवेकानंद आत्मविश्वास से भरे थे.

-स्वामी विवेकानंद ने दुनिया को नया रास्ता दिखाया.

-‘शिकागो स्पीच’ का लोगों को नहीं पता था महत्व.

-विज्ञान भवन में लगे मोदी मोदी के नारे.

 

Tags


Comments

Leave A comment