दलित उत्पीड़न के राहुल के सवाल पर आरएसएस का जवाब, कहा- गुमराह कर रहे हैं कांग्रेस अध्यक्ष

  • May 7, 2018
Share:

हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा और आरएसएस को दलित विरोधी करार देते हुए एक वीडियो जारी किया। इसके जरिये राहुल ने आरोप लगाया कि इनकी फासीवादी विचारधारा के मुताबिक आज भी दलित को समाज में सबसे निचले पायदान पर रहना चाहिए। ‘आंसर मादी मोदी हैशटैग’ से जारी वीडियो में बताया गया है कि मोदी के शासन में हर 12 मिनट पर एक दलित का उत्पीड़न हो रहा है। वहीं, हर दिन छह महिलाओं से दुष्कर्म हो रहा है।

दो मिनट के इस वीडियो में कुछ कथित दलित उत्पीड़न की घटनाएं दिखाई गई हैं। इसमें गुजरात के ऊना में दलितों की पिटाई और मध्य प्रदेश में दलित अभ्यर्थियों के सीने पर एससी/एसटी लिखने वाले फुटेज भी डाले गए हैं। राहुल ने कहा है कि देश में होने वाली ऐसी घटनाओं पर मोदी की चुप्पी से आरएसएस और भाजपा की सोच का पता चलता है।

तो दूसरी ओर, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला बोला। संघ ने आरोप लगाया कि राहुल झूठ बोलकर समाज को गुमराह कर रहे हैं और वह निम्न स्तरीय राजनीति कर रहे हैं। संघ का यह बयान राहुल द्वारा सोशल मीडिया पर भाजपा और संघ नेताओं के दलित विरोधी बयान वाला एक वीडियो साझा करने के बाद आया है।

संघ के सह सरकार्यवाह मनमोहन वैद्य ने एक बयान में कहा कि राहुल ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर मेरे और संघ प्रमुख मोहन भागवत के बारे में गलत तथ्य पेश किए हैं। इसमें कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा है कि हम संविधान में एससी, एसटी को दिए गए आरक्षण को खत्म करना चाहते हैं जोकि पूरी तरह से आधारहीन और गलत है।

Tags


Comments

Leave A comment