अयोध्या मसले पर दलील देकर फंसे सिब्बल, सुन्नी बोर्ड ने किया साफ, जल्द से जल्द हो अयोध्या मसले का समाधान

kapil sibble (750 x 425)
  • December 6, 2017
Share:

68 साल पुराने राम मंदिर बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई ने एक नई बहस को जन्म दे दिया है. सुनवाई के दौरान सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से कपिल सिब्बल ने कोर्ट से मांग की है कि इस मामले की सुनवाई को 2019 लोकसभा चुनाव तक टाला जाना चाहिए. कपिल सिब्बल ने कहा कि मामले की सुनवाई 2019 में होने वाले आम चुनाव के बाद शुरू की जानी चाहिए.

हालाकि सुप्रीम कोर्ट में ये दलील देकर कपिल सिब्बल खुद की फंस गए है. दरसअल जिस सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट में दलीले पेश की है, उसी सुन्नी वक्फ बोर्ड ने कहा है कि इस मामले को अब और चालना नहीं चाहिए और जल्द से जल्द इसका समाधान होना चाहिए.

सुन्नी वक्फ बोर्ड ने कपिल सिब्बल की सुनवाई को चालने वाली मांग से खुद को अलग कर लिया है. सुन्नी वक्फ बोर्ड के हाजी महबूब ने कहा है कि सिब्बल हमारे वकील हैं, लेकिन वो एक राजनीतिक दल से भी ताल्लुक रखते हैं. हाजी महबूब ने कहा है कि 2019 चुनावों तक अयोध्या राम मंदिर के मुद्दे पर सुनवाई रोकने का तर्क गलत है.

Tags


Comments

Leave A comment