मलेशिया में भी नहीं बच पाएगा जाकिर नाईक, मलेशिया की सरकार प्रत्यर्पण के लिए तैयार

naik1 (750 x 425)
  • November 9, 2017
Share:

भारत से भागे विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक की मुश्किल बढ़ गई है. जाकिर नाईक को लेकर मलेशिया की सरकार ने खुद पेशकश करते हुए कहा है कि अगर भारत सरकार जाकिर के प्रत्यर्पण की मांग करती है को वह उसे सौंप देंगे. मलेशिया सरकार की इस बात से साफ हो गया है कि अब जाकिर नाईक का बचना मुश्किल है. मलेशिया के उप प्रधानमंत्री अहमद जाहिद हमीदी ने कहा है कि भारत सरकार अगर जाकिर के लिए प्रत्यर्पण के लिए आवेदन करेगी तो उसे भारत को सौंप दिया जाएगा.

मलेशिया के उप प्रधानमंत्री अहमद ने कहा है कि अभी तक भारत की तरफ से जाकिर को लेकर कोई आवेदन नहीं आया है, अहमद जाहिद हमीदी ने बताया है कि अभी जाकिर का पासपोर्ट रद्द नहीं किया जा सकता, क्योंकि जाकिर ने अभी तक मलेशिया सरकार के किसी भी कानून का उल्लंघन नहीं किया है.

भारत प्रत्यर्पण की करेंगे मांग

जाकिर नाईक को लेकर विदेश मंत्रालय ने कहा है कि उसे भारत लाने की कोशिश शुरू की जा चुकी है और जल्द ही भारत सरकार मलेशिया से जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण के लिए आग्रह करेगी. विदेश मंत्रालय ने कहा है कि प्रत्यर्पण के आग्रह के संबंध में किसी दूसरे देश से सम्पर्क करने से पहले की भारत की आंतरिक कानूनी प्रक्रिया जाकिर नाइक के मामले में पूरी होने के करीब है.

मलेशिया ने दी जाकिर को नागरिकता

विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक को मलेशिया ने अपनी नागरिकता दे दी है. कुछ दिन पहले विवादित इस्लामिक धर्मगुरू को मलेशिया की एक मस्जिद से निकलते देखा गया था. माना जा रहा है कि मलेशिया की सरकार कट्टर इस्लाम को बढ़ावा देना चाहती है इसलिए जाकिर नाइक को नागरिकता दी गई है. ये काम वहां पीएम नजीब रज्जाक की सरकार आने के बाद शुरू किया गया है.

 

Tags


Comments

Leave A comment